अगर आपको व्हाट्सएप पर ब्लॉक कर दिया गया है तो कैसे पता करें|


आज, हम व्हाट्सएप का उपयोग करते हुए, अपने दोस्तों और परिवार के साथ वीडियो कॉल करते हैं, यहां तक ​​कि वॉइस नोट्स भी भेजते हैं ।
मंच अत्यंत उपयोगी है, और सभी दूतों की तरह, यह एक 'ब्लॉक' बटन भी प्रदान करता है, जिसका उपयोग लोग स्पैमर या संपर्कों से बचने के लिए करते हैं, उन्हें कष्टप्रद पूर्व की तरह कहते हैं।

अब, यदि आपको लगता है कि किसी ने आपको अवरुद्ध कर दिया है, तो यहाँ कुछ तरीके सुनिश्चित किए जा सकते हैं।

कैसे पता करें कि आपको व्हाट्सएप पर ब्लॉक कर दिया गया है
जल्द ही, आप व्हाट्सएप के डिलीवरी के टिक को देखें

व्हाट्सएप 'ब्लॉकिंग नोटिफिकेशन' को आगे नहीं बढ़ाता है, जिसका अर्थ है कि आप वास्तव में यह नहीं जान सकते हैं कि उपयोगकर्ता ने आपको कब ब्लॉक करना चुना है।

हालाँकि, आप स्थिति का आकलन करने के लिए डिलीवरी टिक मार्क का उपयोग कर सकते हैं।

बस एक संदेश भेजें और उसके बगल में टिक को देखें; यदि यह दो में बदल जाता है, तो संदेश डिलीवर हो गया है और आप अनब्लॉक हो गए हैं।

यदि नहीं, तो कुछ बुरी खबर हो सकती है।

साइन # 2

अवरुद्ध करने के बाद प्रोफ़ाइल दृश्य बदलता है

अपरिवर्तित संदेशों के अलावा, आप प्रोफ़ाइल परिवर्तनों को भी देख सकते हैं।

जब किसी व्यक्ति ने आपको अवरुद्ध कर दिया है, तो जानकारी के बारे में उनकी प्रदर्शन तस्वीर, स्थिति, (जैसे 'उपलब्ध, व्यस्त, जिम में)' अब दिखाई नहीं देगी।

इस ट्रिक का उपयोग करना काफी सरल है क्योंकि आप आसानी से नोट कर सकते हैं जब आपके ऐप से किसी व्यक्ति / संपर्क की सभी जानकारी गायब हो जाती है।

साइन # 3

अवरुद्ध करने के अन्य उल्लेखनीय संकेत

आगे सबूत प्राप्त करने के लिए, चैट विंडो पर प्रश्न में संपर्क की उपलब्धता को देखें।

यदि उन्होंने आपको ब्लॉक नहीं किया है, तो एक अच्छा मौका है कि आप उनके नाम के तहत 'ऑनलाइन' या 'अंतिम बार देखे गए' टाइमस्टैम्प देखेंगे।

हालाँकि, अगर ऐसा कुछ भी नहीं है जो घंटों तक दिखाई देता है, तो हो सकता है कि उन्होंने आपको अवरुद्ध कर दिया हो या व्हाट्सएप का उपयोग नहीं कर रहे हों (जो कुछ के लिए दुर्लभ हो सकता है)।यदि अवरुद्ध है, तो व्हाट्सएप कॉल से गुजरना नहीं है

जैसा कि कोई व्हाट्सएप वॉयस कॉल को ब्लॉक किए गए कॉन्टैक्ट में नहीं कर सकता है, आप उसे भी आजमा सकते हैं। यदि कॉल नहीं जाती है या कनेक्ट नहीं होती है, तो आप अवरुद्ध हो सकते हैं। लेकिन, अगर यह बजता है, तो आप भाग्य में हो सकते हैं।

# 4 पर हस्ताक्षर करें

एक समूह में संदिग्ध संपर्क जोड़ने का प्रयास करें

अब, यदि उपर्युक्त संकेतों ने आपको कुछ संदेह के साथ छोड़ दिया है, तो संदिग्ध संपर्क को व्हाट्सएप समूह में जोड़ने का प्रयास करें।

यह वह जगह है जहां आपको अंतिम पुष्टि मिलेगी क्योंकि व्हाट्सएप आपको कभी भी एक संपर्क जोड़ने की अनुमति नहीं देगा जिसने आपको अवरुद्ध कर दिया है।

यह केवल यह कहते हुए एक त्रुटि संदेश देगा कि "आप इस संपर्क को जोड़ने के लिए अधिकृत नहीं हैं"।

WhatsApp अकाउंट को हैक करने के लिए भेजा जा रहा है Fake वेरिफिकेशन कोड


इंटरनेट पर धोखा खाना अब एक आम बात सी हो गई है जहां आपके पर्सनल डेटा और अकाउंट के साथ छेड़छाड़ की जा रही है और आपके अकाउंट को भी हैक किया जा रहा है. अब स्कैम करने वाले लोग व्हॉट्सएप यूजर्स को अपना शिकार बना रहे हैं. कई यूजर्स इस बात की शिकायत कर रहे हैं कि उनका अकाउंट खुद ब खुद लॉगआउट हो जाता है. ऐसा पहली बार हो रहा है जहां व्हॉट्सएप पर भी अकाउंट के साथ छेड़छाड़ की जा रही है.

टेकरडार के अनुसार ऐसा वेबसाइट लिंक पर क्लिक करने से हो रहा है. इसके लिए स्कैमर्स सबसे पहले एक फेक वेरिफिकेशन मैसेज भेजते हैं और यूजर्स को लगता है कि उन्हें ये मैसेज व्हॉट्सएप ने सिक्योरिटी के लिए भेजा है. इसके बाद यूजर्स इसपर क्लिक कर देते हैं और स्कैमर्स के जाल में फंस जाते हैं.

यह वेरिफिकेशन एसएमएस वेरिफिकेशन कोड के साथ नहीं आता है. इसके अलावा लिंक में एक कोड होता है जो वेबसाइट से जुड़ा होता है. ऐसे में लोग सोचते हैं कि उनके व्हॉट्सएप को URL की सहायता से कंट्रोल किया जा रहा है. इसके लिए यूजर्स को ये बात समझनी चाहिए कि व्हॉट्सएप सेटअप के लिए कोई भी वेरिफिकेशन कोड को आसानी से मंगवा सकता है.

वेरिफिकेशन कोड मिलने पर व्हॉट्सएप यूजर्स से चेक करता है कि ये यूजर द्वारा ही रिक्वेस्ट की गयी है या नहीं. अगर मामला स्कैम का है तो स्कैमर्स और दूसरे लोग URL का इस्तेमाल कर आपकी व्हॉट्सएप की पहचान कर लेते हैं. इसका मतलब ये हुआ कि अगर आपने उस लिंक को खोला है तो इससे ये व्हॉट्सएप को पता चल जाता है कि किसने उस लिंक को ओपन किया है. इस स्कैम के बारे में गल्फ न्यूज ने जानकारी दी है. वहीं सभी यूजर्स को ये कहा है कि वो किसी भी लिंक पर क्लिक न करें.

Nubia Red Magic 3 गेमिंग स्मार्टफोन लॉन्च

नूबिया रेड मैजिक 3 गेमिंग स्मार्टफोन चीन में लॉन्च कर दिया गया है। स्मार्टफोन की ग्लोबल लॉन्चिंग मई में की जाएगी जिसके बाद जल्द ही भारत में लॉन्च कर दिया जाएगा। स्मार्टफोन रेड मैजिक मार्स का सक्सेसर है। स्मार्टफोन के फीचर्स की बात करें तो इसमें लिक्विड कूलिंग टेक्नॉलजी, 5000mAh की पावरफुल बैटरी और दमदार क्वालकॉम स्नैपड्रैगन 855 चिपसेट दिया गया है। चीन में इस स्मार्टफोन की शुरुआती कीमत 3199 RMB यानी लगभग 33,000 रुपये है।


तीन रैम वेरियंट्स का ऑप्शन
स्मार्टफोन में 6GB+128GB स्टोरेज दी गई है। इसके अलावा यह फोन 8GB+128GB स्टोरेज वेरियंट भी उपलब्ध है जिसकी कीमत 3499 RMB यानी लगभग 36,200 रुपये है। स्मार्टफोन 12GB+256GB स्टोरेज का ऑप्शन भी देता है। इस वेरियंट की कीमत 4299 RMB यानी लगभग 44,500 रुपये है। स्मार्टफोन 3 मई से चीन में सेल के लिए अवेलेबल होगा।
इन खूबियों से लैस है रेड मैजिक 3
स्मार्टफोन में 6.65 इंच अल्ट्रा बाइट फुल HD+ AMOLED दी गई है। नूबिया रेड मैजिक गेमिंग स्मार्टफोन क्वॉलकम स्नैपड्रैगन 855 प्रोसेसर, 12GB रैम और एक 4D वाइब्रेशन मोटर के साथ लॉन्च होगा। इस मोटर को यूजर्स अपनी जरूरत के हिसाब से कस्टमाइज कर सकेंगे। इतना ही नहीं, इस नए फोन में हाईब्रिड कूलिंग (एयर लिक्विड) और एक फैन भी लगा होगा, जिससे फोन का ट्रेंपरेचर बढ़ने पर यह ऑटोमैटिक ऑन हो जाएगा। इससे यूजर्स को फोन के ओवरहीट की समस्या नहीं होगी।
फोन में 5,000mAh की दमदार बैटरी दी गई है जो 30W फास्ट चार्जिंग सपोर्ट करती है। कैमरे की अगर बात करें तो स्मार्टफोन में 48 मेगापिक्सल का रियर और 16MP फ्रंट कैमरा दिया गया है। स्मार्टफोन लेटेस्ट ऐंड्रॉयड 9.0 ऑपरेटिंग सिस्टम पर रन करता है।

यूट्यूब से बढ़िया और जल्दी पैसा कमाने का नया प्लेटफॉर्म


आज यूट्यूब पर नाम और पैसा कमाना आसान नही रहा। दिन प्रतिदिन यूट्यूब पर प्रतिस्पर्धा बढ़ती जा रही है। ऐसे में नए यूजर को वहां पर बहुत ज्यादा मेहनत करनी पड़ रही है। लेकिन अब यह दिक्कत पूरी तरह दूर होती नजर आ रही है क्योंकि यूट्यूब की तरह ही काम करने और पैसा कमाने का नया प्लेटफॉर्म आ चुका है। जिस पर यूट्यूब के सभी बड़े यूट्यूबर्स अपना एकाउंट बना चुके है। जी हां, मैं जिस प्लेटफॉर्म का जिक्र कर रहा हूँ उसका नाम डेलिमोशन (dailymotion) है। डेलिमोशन भी बिल्कुल यूट्यूब की तरह है लेकिन यूट्यूब की तुलना में किसी भी यूजर के लिए काफी सुविधाजनक और जल्दी पैसा कमाने का साधन भी है। आप अपने ईमेल आईडी या फेसबुक आईडी से भी इसपे अपना एकाउंट बना सकते है।

आइये बात करते है उन सभी चीजों का जो डेलिमोशन को यूट्यूब की तुलना में सबसे बेहतर बनाती है- मोनोटाइजेसन के लिए कोई टारगेट नही है- जैसा कि आप सब लोग जानते है कि यूट्यूब चैनल मोनोटाइज करने के लिए आपके चैनल के 1000 सब्सक्राइबर और 4000 घंटे का watch hours होना आवश्यक है लेकिन डेलिमोशन पर मोनोटाइजेसन के लिए ऐसा कोई टारगेट नही है। आप जीरो सब्सक्राइबर के साथ अपनी पहली वीडियो से ही चैनल को मोनोटाइज कर सकते है।

कॉपीराइट स्ट्राइक का कोई झंझट नही-

 यूट्यूब पर अगर आप किसी दूसरे क्रिएटर का ओरिजनल कंटेंट कॉपी करते है तो आपके चैनल पर कॉपीराइट स्ट्राइक आ जाता है। जिससे चैनल बंद हो जाने का डर हमेशा बना रहता है। लेकिन डेलिमोशन पर ऐसा कोई झंझट नही है आप बेफ़िक्र होकर वीडियो अपलोड कर सकते है। इस हिसाब से जहाँ यूट्यूब पर इतनी ज्यादा प्रतिस्पर्धा है और पैसा कमाना भी आसान नही है तो ऐसे में डेलिमोशन एक बेहतर विकल्प बनके उभर रहा है। जहाँ आप शुरुआत से ही बिना किसी टारगेट के वीडियो अपलोड करके बहुत आसानी से पैसे कमा सकते है। इसके लिए आपको डेलिमोशन (dailymotion) के ऑफिसियल वेबसाइट पर जाना होगा और वहाँ पर अपना एकाउंट बनाना होगा। एकाउंट वेरीफाई होते ही आप वीडियो अपलोड करना शुरू कर सकते है।

Google Android Q Developer गूगल का यह नया अपडेट तुरंत ऐसे करें इंस्टॉल, मिलेंगे नए फीचर्स


Google Android Q Developer Preview का रोल-आउट शुरू हो चुका है। गूगल का कहना है कि Android Q में कई प्राइवेसी और सेक्युरिटी फीचर्स मिलेंगे। अब बैकग्राउंड में रन करतीं ऐप्स को यूज़र लोकेशन ट्रैक करने के लिए 'explicit permissions' लेनी होंगी। Android Q से आपको फास्टर ऐप स्टार्ट मिलता है और साथ ही और नई कैमरा कैपबिलिटी को भी फोल्डेबल फोन के लिए बेहतर बनाया गया है। हमेशा की तरह ही अपडेट सबसे पहले Pixel डिवाइस के लिए के लिए आएगा। यह नया OS सभी पिक्सेल स्मार्टफोन्स के लिए उपलब्ध है जिनमें Pixel, Pixel XL, Pixel 2, Pixel 2 XL, Pixel 3 और Pixel 3 XL डिवाइस शामिल हैं।

 ये हैं Android Q Developer Beta इंस्टॉल करने के स्टेप्स

1. सबसे पहले आपको अपने Pixel स्मार्टफोन में मौजूद गूगल ID से sign-in करना होगा।

 2. इसके बाद आपको अपने PC या मोबाइल ब्राउज़र पर जाकर google.com/android/beta पर जाना होगा जिससे यह सुनिश्चित हो जाये कि आपने अपने Google credentials से sign-in किया है। इसके बाद आप Android Beta homepage पर जाएँ जहां पर आपको एलिजिबल डिवाइस की लिस्ट मिलेगी जिसपर आप इसे इंस्टॉल कर सकते हैं।

 3. डिवाइस इमेज के नीचे आपको “Opt in” मिलेगा जिसपर आपको टैप करना होगा। अब बीटा प्रोग्राम की टर्म्स और कंडीशंस को एक्सेप्ट करके “Join Beta” पर टैप करें।

 4. कुछ मिनट के इंतज़ार के बाद Settings > System > Advanced > System Updates पर जाएं। इसके एनरोल होने में आपको कुछ समय लग सकता है जिसके बाद आपको अपडेट डाउनलोड करने के लिए दिखाई दे सकता है। अगर आप इसे फर्स्ट जनरेशन के Pixel XL इंस्टॉल करते हैं तो आपको अपडेट साइज़ 960MB मिलेगा। फोन वैरिएंट के मुताबिक अपडेट साइज़ बदल सकता है। एक बार अपडेट डाउनलोड होने के बाद आपके सिस्टम में वह नए OS के तौर पर रीबूट हो जायेगा।

 5. आपको बता दें कि ध्यान देने वाली बात यह है कि बीटा वर्ज़न होने के नाते इसमें बग्स हो सकते हैं। कुछ ऐप्स इस नए OS के साथ कम्पैटिबल नहीं होंगी और इसके चलते यह भी हो सकता है कि कुछ ऐप्स क्लोज हो जाएं। ऐसे में Android Q Developer Beta को स्मार्टफ़ोन पर ही इंस्टॉल करना सही होगा।

Amazon पर स्मार्टफोन-लैपटॉप समेत ढेरों प्रोडक्ट्स पर 70% तक छूट


अर्थ डे 2019 को सेलिब्रेट करने के लिए खासतौर पर ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म Amazon ने अर्थ वीक सेल का आयोजन किया है. ये सेल आज यानी 16 अप्रैल से शुरू होकर 22 अप्रैल यानी अर्थ डे वाले दिन तक जारी रहेगी. इस दौरान रिफर्बिश्ड प्रोडक्ट्स पर 200 से ज्यादा डील्स दिए जाएंगे. इसमें रिफर्बिश्ड स्मार्टफोन्स, हेडफोन्, लैपटॉप्स और ऐक्सेसरीज समेत कई और प्रोडक्ट्स शामिल हैं.

 ये प्रोडक्ट्स ना केवल आपके पैसे बचाएंगे, बल्कि आप प्लेनेट को बचाने में अपनी भूमिका अदा कर सकेंगे. Amazon ने जानकारी दी है कि अर्थ वीक सेल के दौरान कंपनी कुछ रिफर्बिश्ड स्मार्टफोन्स पर 70 प्रतिशत तक छूट देगी. सेल के दौरान Xiaomi के Mi A2 को 17,499 रुपये की जगह 9,899 रुपये में खरीद पाएंगे. इसी तरह Redmi Note 6 Pro को ग्राहक 12,999 रुपये की जगह 10,699 रुपये में और Realme U1 को 11,999 रुपये की जगह 8,999 रुपये में खरीद पाएंगे. ये सभी रिफर्बिश्ड फोन हैं, जिन्हें अमेजन रिन्यूड प्रोग्राम के तहत पेश किया गया है. Amazon इंडिया भारत में अमेजन रिन्यूड के तहत बेचे जाने वाले सभी रिफर्बिश्ड प्रोडक्ट्स पर छह महीने की सेलर वारंटी देता है. अमेजन रिन्यूड एक ग्लोबल प्रोग्राम है जो नौ देशों में ग्राहकों के लिए सर्टिफाइड रिफर्बिश्ड प्रोडक्ट लाता है. इसे 2017 में भारत में पेश किया गया था.

अमेजन का कहना है कि कंपनी भारत में 6,000 से ज्यादा रिफर्बिश्ड प्रोडक्ट बेचती है. स्मार्टफोन्स के अलावा अमेजन इंडिया अर्थ वीक सेल के दौरान Intel Core i5 प्रोसेसर के साथ रिफर्बिश्ड लैपटॉप्स भी 19,990 रुपये की शुरुआती कीमत में सेल किए जाएंगे. वहीं Intel Core i7 प्रोसेसर वाले लैपटॉप्स 23,990 रुपये की शुरुआती कीमत में उपलब्ध होंगे. इसके अलावा अर्थ वीक सेल के दौरान अमेजन के अपने प्रोडक्ट जैसे फायर टीवी स्टिक, अमेजन एको, अमेजन एको डॉट और ऐसे कई प्रोडक्ट्स पर डिस्काउंट दिया जाएगा. इन सारे प्रोडक्ट्स पर 6 महीने की वारंटी मिलेगी. सेल के दौरान चुनिंदा रिफर्बिश्ड स्पीकर्स पर 60 प्रतिशत और कई प्रोडक्ट्स पर 70 प्रतिशत तक की भी छूट मिलेगी. इसके अलावा ICICI बैंक डेबिट या क्रेडिट कार्ड से EMI का ऑप्शन सेलेक्ट करने पर 1,500 रुपये का इंस्टैंट डिस्काउंट भी मिलेगा.

भारत का सबसे पहला फेसबुक यूज़र कौन है ?


1. दोस्तों क्या आपको पता है फेसबुक का पहला भारतीय यूज़र एक महिला है जिसका नाम शीला तंद्राशेखरा क्रिश्नन है।

 2. फेसबुक पर मार्क जुकरबर्ग के पेज तक पहुंचने का एक शॉर्टकट भी है। अगर आप Facebook के URL के आगे नंबर 4 लिख देंगे तो आपका ब्राउजर सीधे मार्क जुकरबर्ग के पेज तक ले जाएगा।

 3. Facebook की प्राइवेसी सेटिंग्स के कारण हर यूजर को ब्लॉक करने की सुविधा दी गई है, लेकिन ध्यान देने वाली बात ये है कि आप चाहें तो भी Facebook से मार्क जुकरबर्ग को ब्लॉक नहीं कर सकते हैं। अगर आप ऐसा करने की कोशिश करेंगे तो Facebook की तरफ से एक एरर मैसेज दिखेगा।

 4. मार्क जुकरबर्ग को सैलरी के तौर हर साल एक डॉलर मिलता है।

5. दुनिया में जितने लोग इंटरनेट पर हैं उनमें से पचास प्रतिशत लोग Facebook से जुड़े हुए हैं।

 6. 2011 में अमेरिका में Facebook तलाक का सबसे बड़ा कारण बनी थी। अमेरिका में हर 5 में से एक शादी के टूटने की वजह कहीं ना कहीं फेसबुक से जुड़ी रहती है।

 7. Facebook की तरफ से नवंबर 2018 में एक रिपोर्ट जारी की गई थी। इस रिपोर्ट में कंपनी का कहना था कि 14.3 करोड़ अकाउंट्स फेक होते हैं। इनमें से सबसे ज्यादा फेक अकाउंट भारत से बनाए जाते हैं।

8. Facebook पर काम करने वाली पहली महिला इंजीनियर है रुचि सांघवी (RUCHI SANGHVI) रुचि ने ही फेसबुक पर न्यूज फीड का आइडिया दिया था। Facebook का न्यूज फीड सबसे विवादास्पद होने के साथ साथ Facebook का सबसे लोकप्रिय फीचर भी रहा।

 9. अगर Facebook का Server Down हो जाए तो इसे हर मिनट 25 हजार डॉलर का नुकसान होगा।

 10. 2009 में Whatsapp के को-फाउंडर ब्रायन ऐक्टन को Facebook ने जॉब देने से मना कर दिया था।

अगर आपको व्हाट्सएप पर ब्लॉक कर दिया गया है तो कैसे पता करें|

आज, हम व्हाट्सएप का उपयोग करते हुए, अपने दोस्तों और परिवार के साथ वीडियो कॉल करते हैं, यहां तक ​​कि वॉइस नोट्स भी भेजते हैं । मंच अत...